Maruti Swift ड्राइवर बिना टोल दिए हुआ बैरिकेड लेकर फरार [VIDEO]

इंडिया की सड़कें आश्चर्य से भरी हुई हैं और हम अक्सर वास्तविक जीवन या वीडियो पर अजीब और ग़रीब घटनाओं को देखते हैं. ऐसा ही एक वीडियो मुंबई में शूट किया गया है. ये वीडियो, वाशी टोल के ठीक बाद का है और इसमें एक Maruti Swift को उसके फ्रंट में फंसे बैरिकेड के साथ चलते देखा जा सकता है.

यहाँ हो क्या रहा है ?

at Vashi toll🤣🤣🤣🤣

Posted by Amey Sawant on Thursday, 26 April 2018

ये वीडियो इंटरनेट पर काफी चर्चा में है. इस वीडियो में सड़क पर चलती एक पुरानी जनरेशन Maruti Swift के आगे फंसा एक सुर्ख पीले रंग का प्लास्टिक बैरियर देखा जा सकता है. उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, कार ने टोल का भुगतान नहीं किया और बिना गाड़ी रोके प्लास्टिक बैरिकेड के साथ बैरिकेडेड लेन के माध्यम से निकलती चली गई. ये वीडियो टोल से कितनी दूरी पर रिकॉर्ड की गयी थी ये तो नहीं पता पर वीडियो से ये ज़रूर पता चलता है कि ड्राईवर पकड़े ना जाने के कारण रुक कर आगे फंसे बैरियर को भी नहीं हटा रहा है.

कुछ लोग कह सकते हैं कि ड्राइवर को शायद बैरियर दिखाई नहीं दे रहा हो लेकिन ऐसा हरगिज़ नहीं है. SUVs के ऊँचे बोनट हाइट के विपरीत Swift का बोनट काफी अच्छी विजिबिलिटी देता है और ऐसा हरगिज़ नहीं हो सकता कि इस स्विफ्ट के ड्राइवर को सुर्ख रंग का फंसा हुआ बैरिकेड नहीं दिख पा रहा हो. इसके अलावा, बैरियर की ऊंचाई स्विफ्ट के बोनट की तुलना में अधिक है जिसके कारण ड्राइवर को आगे फंसा बैरिकेड साफ़ दिख जाना चाहिए.

आम तौर पर, ऐसे प्लास्टिक बैरियर्स को भारी बनाने के लिए उन्हें पानी या रेत से भरा जाता है और उन्हें किसी भी प्रभाव को रोकने में मदद करता है. लेकिन यह एक खाली बैरियर लगता है. इस तरह के अवरोध उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाने में आसान बनाने के लिए बनाए जाते हैं क्योंकि खाली होने पर ये काफी हल्के होते हैं. Swift के अगले हिस्से में कोई नुकसान नहीं हुआ है क्योंकि खाली बैरियर काफी लचीला भी होता है. हालांकि, अगर इस Swift ड्राइवर ने आगे फंसे बैरियर के साथ चलाते रहना नहीं रोका तो ख़राब सड़क या ब्रेकर पर अड़कर वो वाहन के नीचे फंस सकता है. ऐसे में यह बैरियर निश्चित रूप से बम्पर और कार के कुछ निछले भागों को भी नुकसान पहुंचा सकता है.

इंडिया में ये बहुत आम है

टोल बूथ संचालकों से टोल के भुगतान की वजह से बहस और मारपीट इंडिया में आम मंज़र हैं. विशेष रूप से शक्तिशाली पदों पैर बैठे लोग और गुंडे टोल राशि को बचाने के लिए टोल ऑपरेटर को धमकी देते हैं. ऐसी कई घटनाएं हुई हैं जहां टोल ऑपरेटर टोल भुगतान के बारे में बहस करते समय भीड़ में पीटे गए हैं या यहां तक ​​कि जान से भी मारे गए हैं.

टोल का भुगतान सरकार को हाईवेज़ पर वाशरूम जैसी सुविधाओं को बनाए रखने में मदद करता है और सड़कों की मरम्मत करने में भी मदद करता है, हालांकि ऐसे कई मामले हैं जहां टोल बूथ और सड़कों को ठीक से मेन्टेन नहीं किया जाता है. ऐसे में यात्रियों को कभी-कभी निराशा भी होती है और वो इस कारण बहस करने लगते हैं. लेकिन बिना गाड़ी रोके बैरिकेड के साथ खतरनाक तरीके से भाग निकलना इस समस्या से निपटने का एक बहुत ही ग़लत तरीका है. ये तो नहीं पता कि क्या Swift चलाने वाला व्यक्ति बाद में पकड़ा गया या नहीं, लेकिन यह अवैध है और पकड़े जाने पर, उसे भारी जुर्माना देना पड़ा होगा.