Hyundai Santro से Maruti Swift: भारत की सबसे किफायती 4-सिलिंडर कार्स

भारत में अधिकतर किफायती छोटी-कार्स की कीमतें को कम रखने के लिहाज़ से उन्हें 3-सिलेंडर इंजन से ही लैस किया जाता है. हालांकि, 3-सिलेंडर इंजन लगी कार्स की गैरज़रूरी आवाज़, वाइब्रेशन, और हार्शनेस यानि NVH के स्तर की तुलना एक पारंपरिक 4-सिलेंडर इंजन से नहीं की जा सकती. तो आइए बात करें बाज़ार में उपलब्ध उन सबसे-किफायती कार्स की जिनमें एक पारंपरिक 4-सिलेंडर इंजन लगा है:

Hyundai Santro

कीमत: 3.9 लाख रूपए से शुरू

इंजन के आंकड़े: 1086 सीसी/68 बीएचपी/99 एनएम

ARAI प्रमाणित माइलेज: 20.3 किमी/लीटर

Hyundai Santro

नई Santro भारत में खरीदी जा सकने वाली सबसे-किफायती 4-सिलेंडर इंजन वाली कार है. Hyundai आज भी अपने पुराने और जांचे-परखे 1.1-लीटर इंजन का इस्तेमाल कर रही है. लेकिन कंपनी ने इस इंजन को ट्यून कर इसे भारतीय उत्सर्जन नियमों के अनुरूप ढालने के साथ ही इसकी माइलेज भी काफी अच्छी रखी है. इस इंजन को एक 5-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से जोड़ा गया है और इसके साथ एक AMT गियरबॉक्स का विकल्प भी उपलब्ध है. Hyundai ने इस कार की कीमतों का निर्धारण काफी अच्छे से किया है और जिन्हें बिना एयर-कंडीशन वाली एक सादी कार की खोज है उन्हें Santro एक पैसा-वसूल कार के तौर पर बेहद पसंद आएगी.

Maruti Ignis

कीमत: 4.67 लाख रूपए से शुरू

इंजन के आंकड़े: 1197 सीसी/82 बीएचपी/113 एनएम

ARAI प्रमाणित माइलेज: 20.89 किमी/लीटर

Ignis

झटका लगा ना? मिड-साइज़ हैचबैक Ignis भारत की दूसरी सबसे-किफायती कार है जिसमें आपको एक 4-सिलेंडर इंजन लगा मिलता है. कीमतों के मामले में यह WagonR 1.2 को भी मात दे रही है! हालांकि इसकी बिक्री अभी मंद चल रही है लेकिन हल्के वज़न की Ignis आपको एक अच्छी ड्राइव देती है जिसे आप AMT गियरबॉक्स के विकल्प के साथ भी खरीद सकते हैं. हमें इस कार का फंकी और अपरंपरागत डिज़ाइन काफी पसंद आया और बाहर से छोटी दिखने वाली इस कार का केबिन काफी खुला-खुला है.

Maruti WagonR 1.2

कीमत: 4.89 लाख रूपए से शुरू

इंजन से जुड़े आंकड़े : 1197 सीसी/82 बीएचपी पॉवर/113 एनएम टॉर्क

ARAI प्रमाणित माइलेज: 21.5 किमी/लीटर

Wagonr

नई WagonR को एक वैकल्पिक 1.2-लीटर इंजन के साथ उपलब्ध कराया जा रहा है जिसका इस्तेमाल Ignis, Swift और Dzire में भी किया जाता है. इसमें लगा 4-सिलेंडर इंजन इस कार को इसकी प्रमुख प्रतिद्वंदी Santro पर एक विशेष बढ़त देता है. दरअसल, पांचवी पीढ़ी का नया HEARTECT प्लैटफॉर्म WagonR को एक कम-वज़नी कार बनाने के साथ-साथ अच्छे स्तर के पॉवर और टॉर्क के कारण किसी भी ड्राइविंग परिस्थिति में इसे एक मजेदार कार का एहसास देता है. इस कार के साथ AMT गियरबॉक्स का विकल्प भी आता है और WagonR 1.2 यहाँ सबसे ज़्यादा माइलेज देने वाली कार भी है.

Hyundai Grand i10

कीमत : 4.91 लाख रूपए से शुरू

इंजन से जुड़े आंकड़े : 1197 सीसी/ 82 बीएचपी/ 114 एनएम

ARAI प्रमाणित माइलेज : 18.9 किमी/लीटर

Grand I10

Grand i10 हमेशा ही Hyundai के लिए एक सफलता की कहानी रही है और यह कार भारत में हर महीने सबसे अधिक बिकने वाली 10 कार्स की सूची में अपनी जगह बनाती रही है. इस कार में एक जांचा-परखा 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन लगा है जो Elite i20, i20 Active और Xcent कार्स में भी इस्तेमाल किया जाता है. ये इस सूचि की इकलौती कार है जिसमें एक किफायती AMT गियरबॉक्स की जगह एक टॉर्क कनवर्टर ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प आता है. इस कार के पॉवर और टॉर्क के आंकड़े Maruti के समान हैं परन्तु इसकी माइलेज इस सूची में मौजूद हर कार से कम है.

Maruti Swift

कीमत:  4.99 लाख रूपए से शुरू

इंजन से जुड़े आंकड़े: 1197 सीसी/82 बीएचपी/ 113 एनएम

ARAI प्रमादित माइलेज: 22 किमी/लीटर

Maruti Swift

और आखिरकार Swift. इस कार में एक जांचा-परखा K12 इंजन इस्तेमाल किया जाता है और इसके कम वज़नी आर्किटेक्चर और स्टीयरिंग सेट-अप की वजह से यह कार इस सूची में मौजूद किसी भी कार से अधिक मज़ेदार ड्राइव वाली है. यह आश्चर्य की बात यह है कि इस कार की ARAI प्रमाणित माइलेज इससे सस्ती WagonR से बेहतर है. Swift इस सूची की सबसे ज़्यादा लोकप्रिय कार है जो हर महीने देश में सबसे-अधिक बिकने वाली 3 कार्स में बनी रहती है. Maruti के अधिकांश अन्य कार्स की तरह ही Swift के साथ भी AMT गियरबॉक्स का विकल्प उपलब्ध है.

4-सिलेंडर इंजन के फायदे

जैसा की हमने पहले भी बताया की ऐसे इंजन का नॉएज़, वाइब्रेशन और हार्शनेस यानि NVH स्तर एक 3-सिलेंडर इंजन से काफी बेहतर होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि एक सामान्य इंटरनल क्म्बस्शन इंजन की क्रिया-प्रणाली का चक्र चार चरणों में पूरा होता है – इन्टेक (इंधन और हवा का चैम्बर में जाना), कम्प्रेशन (पिस्टन का इस मिश्रण को कंप्रेस करना), क्म्बस्शन (स्पार्क प्लग द्वारा इस कंप्रेस मिश्रण का प्रज्वलन) और एग्जॉस्ट (प्रज्वलन से उत्पन्न गैसों को निकालना और पिस्टन को चाल मिलना).

तो इस तरह एक किसी भी समय एक 4-स्ट्रोक इंजन में किसी-न-किसी एक सिलेंडर में इंधन और हवा के मिश्रण के प्रज्वलन की क्रिया जारी रहती है जिसे अंग्रेजी में क्म्बस्शन कहते हैं. एक 3-सिलेंडर इंजन में क्रैंकशाफ़्ट पर पिस्टनों को बैठाने का तरीका अलग होता है जिस वजह से इस इंजन की कार्यप्रणाली का एक-चक्र पूरा होने के बीच आधे-चक्र का अंतर आ जाता है.

एक 3-स्ट्रोक इंजन की कार्यप्रणाली का एक-चक्र क्रैंक के 120 डिग्री घूमने के बाद होता है, वहीँ एक 4-सिलेंडर इंजन में यह क्रैंक के 90 डिग्री घूमने के बाद होता है (फ्लाईव्हील के एक पूरे 360 डिग्री का चक्कर लगाने के लिए).

इससे एक 3-सिलेंडर इंजन के अंदर इंधन के प्रज्वलन की लगातार चलती प्रक्रिया के बीच एक हल्का सा गैप होता है जो इसकी आवाज़ को थोड़ा कर्कश बनाता है. अगर आप Datsun Go या फिर नई WagonR 1.1 जैसी कार्स को एक्सीलीरेट करते हैं तो आपको इसके गियर लीवर और अपने पैरों में एक कम्पन का एहसास होगा. अगर आप इन कार्स को स्थिर-अवस्था में खड़ा कर के इनका एक्सीलीरेटर बढ़ाते हैं तो आपको एक ठेठ 3-सिलेंडर इंजन की गुर्राहट भी सुनाई देती है. यह सब एक 4-सिलेंडर इंजन में नहीं पाया जाता.