blank1

भारतीय सड़कों पर तेज़ रफ़्तार जानलेवा होती है, और ये विडियो इसका सुबूत है! – Cartoq Hindi: Car news in Hindi, कार ख़बरें हिंदी में

भारतीय सड़कों पर तेज़ रफ़्तार जानलेवा होती है, और ये विडियो इसका सुबूत है!

भारत में एक्सीडेंट का आंकड़ा यहाँ के सड़कों की सुरक्षा को लेकर बेहद दुखद नज़ारा पेश करते हैं. हर साल हजारों एक्सीडेंट जानलेवा साबित होते हैं जिससे यहाँ की सड़कों पर चलना बेहद खतरनाक साबित होता है. दरअसल, भारत की सड़कें दुनिया में सबसे खतरनाक सड़कों में से एक हैं. हेल्मेट पर लगे इस कैमरा का फुटेज दर्शाता है की भारत की सड़कें बेहद खतरनाक क्यों हैं.

सड़क पर खतरा

भारत का रोड नेटवर्क दुनिया के सबसे बड़े नेटवर्क में से एक है और यहाँ की कुछ सड़कें काफी अच्छे से मेन्टेन की हुईं हैं. लेकिन इनका गलत इस्तेमाल इन्हें बेहद खतरनाक बनाता है. मेघालय के Bishal Sharma का ये विडियो उनके दोस्त Duncan Sharma को बेहद तेज़ रफ़्तार पर एक Hyosung GV650 चलाते हुए दिखाता है. इस विडियो को हेलमेट पर लगे कैमरा से लिया गया है और ये साफतौर पर दर्शाता है की शहर की लगभग खाली सड़क पर 145 किमी/घंटे तक पहुँचती हुई दिखती है.

Duncan को सड़क के सबसे दाहिनी तरफ चलते हुए देखा जा सकता है और बेहद तेज़ रफ़्तार पर मुड़ते हुए भी देखा जा सकता है. इतने तेज़ रफ़्तार पर आगे वाली गाड़ी की स्पीड का अंदाजा लगाना बेहद मुश्किल होता है और सुरक्षित रूप से चलने के लिए काफी ध्यान लगाने की ज़रुरत होती है. एक सीधे सड़क वाली जगह पर रोड के डिवाइडर की तरफ से अचानक एक बकरी सामने आ जाती है और रोड के पार जाने लगती है. राइडर ने ऐन मौके पर देखकर साइड से बाइक निकाल ली और एक बड़ा खतरा टल गया. हम राइडर को एक साथी-राइडर का पीछा करते हुए देखा जा सकता है.

Speeding Goat

जहां ऐसे पल देखने में काफी मजेदार साबित होते हैं इन्हें केवल रेस ट्रैक जैसे प्राइवेट जगह पर करना चाहिए, आम सड़क पर इस प्रकार की राइडिंग बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं एवं बड़े एक्सीडेंट का सबब बन सकते हैं.

ना केवल सड़क के जानवर बल्कि आम सड़क इस्तेमाल करने वाले पैदल यात्री भी ऐसे में दुर्घटना का शिकार बन सकते हैं. इतने तेज़ रफ़्तार पर चलने से प्रतिक्रिया के लिए काफी कम समय मिलता है. कम रफ़्तार पर चलने से समय रहते ब्रेक लगाने का समय मिलता है. तेज़ रफ़्तार गाड़ी को रुकने में ज़्यादा समय और जगह की ज़रुरत होती है.

भारत की सड़कों पर सही से चलने के लिए स्पीड लिमिट में चलना बेहद ज़रूरी होता है. जब सड़कें खाली हों तब भी अक्सर सामने कई बाधाएं अचानक से आ सकती हैं और ऐसे में बड़ी दुर्घटना हो सकती हैं. जब भी आपको सड़क पर मवेशी दिखें सबसे सही कदम होता है स्पीड कम कर लेना. कई बार जानवरों के व्यवहार का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता और वो अंतिम घड़ी में अपनी दिशा बदल लेते हैं.

साथ ही, आबादी वाले इलाकों से गुज़र रहे हाईवे के हिस्से के दौरान भी स्पीड कम कर लेनी चाहिए. अधिकांश भारतीय हाईवे बड़े शहरों से गुज़रते हैं और यहीं पर बड़ी दुर्घटनाएं भी होती हैं. स्थानीय आबादी के मवेशी भी कई बार सड़कों पर आ जाते हैं लेकिन ऐसे में अगर रफ़्तार धीमी रही तो एक्सीडेंट को टाला जा सकता है. साथ ही ये विडियो सही रफ़्तार पर चलने की ज़रुरत को भी दर्शाता है.