अलविदा Hyundai Eon और Honda Brio; छोटी Santro लेगी Eon की जगह

जैसा कि हमारा अंदेशा था, Hyundai ने अपनी एंट्री लेवल हैचबैक कार Eon को बाज़ार से उठा लिया है. उम्मीद है कि बिल्कुल-नई Hyundai Santro का एक छोटे इंजन वाला संस्करण बाज़ार में Eon की जगह लेगा. वहीँ दूसरी ओर Honda ने भी अपनी Brio को बाज़ार में नहीं बेचने का निर्णय लिया है. जहाँ एक ओर Eon ने अपनी मासिक बिक्री की दर को लगातार 5,000 इकाई प्रति महिना से ऊपर का बनाए रखा था वहीँ Honda Brio इस मामले में तेज़ गिरावट के साथ औसतन मात्र 500 इकाई प्रति माहिना पर सिमट कर रह गई थी.

Hyundai Eon BlueBrio को बाज़ार से खींच लिए जाने के पीछे का मुख्य कारण है इसके गिरते हुए बिक्री के आंकड़े. वहीँ Eon के मामले में Hyundai के इस कार को तिलांजलि देने के पीछे का मुख्य कारण है इस कार को नए BNVSAP सुरक्षा नियमों के अनुरूप बनाने के लिए लगने वाली मोटी लागत. इस खर्चीले काम के बजाय Santro में एक BNVSAP सुरक्षा नियमों का पालन करने वाला एक छोटा इंजन लगाना कम्पनी को काफी सस्ता पड़ेगा और Hyundai ने इसी विकल्प को चुना है.

Honda ने हाल ही में एक नई कॉन्सेप्ट कार को प्रदर्शित किया है जिसे बिल्कुल-नई दूसरी पीढ़ी की Brio हैचबैक की आहट बताया जा रहा है. हालांकि जापानी कार निर्माता का Brio को फिर से भारत ले कर आने का कोई इरादा नहीं है. इस ब्रैंड द्वारा भारत में हैचबैक के नाम पर केवल Honda Jazz को ही बेचा जाएगा. Jazz को प्रीमियम हैचबैक की श्रेणी में रखा जाता है और इसका मुकाबला Maruti Baleno और Hyundai Elite i20 से रहता है.

Brio RedBrio को बाज़ार से खींच लेने के बाद Honda के पास Maruti Swift श्रेणी में कोई भी गाड़ी नहीं बची है. जिस Brio की सप्लाई पर विराम लगाया गया है वो केवल पेट्रोल इंजन विकल्प वाली हैचबैक हुआ करती थी. इस कार में एक 1.2 लीटर i-VTEC पेट्रोल इंजन लगा था जो 87 बीएचपी और 110 एनएम का अधिकतम आउटपुट देता था. इस गाड़ी के साथ दो गियरबॉक्स का विकल्प मौजूद था – एक 5 स्पीड मैन्युअल और एक 5 स्पीड टॉर्क कनवर्टर ऑटोमैटिक. Honda Brio एक्स-शोरूम दिल्ली की कीमत 4.81 लाख रूपए से शुरू हुआ करती थी.

अब जब इस कार को बाज़ार से उठा लिया गया है तो उम्मीद की जा सकती है कि Honda Brio के बचे-खुचे स्टॉक को भारी छूट पर बेचा जाएगा. जहाँ तक Hyundai Eon की बात है तो कार निर्माता ने इस कार की बाज़ार में सप्लाई को धीमा करना शुरू कर दिया है. अक्टूबर माह में Eon की केवल पांच इकाइयां ही बाज़ार में भेजीं गईं थीं जिसका मतलब ये हुआ की Hyundai ने इस एंट्री लेवल हैचबैक के स्टॉक से लगभग-लगभग छुटकारा पा ही लिया है. इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी कि हम Hyundai Santro के किफायती 800 सीसी नए संस्करण को जल्द ही अपने पड़ोसी के दरवाज़े पर खड़ा पाएं.

वहीँ Honda अब अपना पूरा ध्यान भारतीय बाज़ार के लिए SUVs पर देगी. ऐसा कहा जा रहा है कि यह कार निर्माता Hyundai Creta को मुकाबला देने वाली एक कार और एक 4 मीटर से छोटी SUV पर काम कर रही है. हालांकि दोनों SUVs के भारतीय बाज़ार में पदार्पण में अभी एक दो साल का समय रहता है. Honda की ओर से भारत के लिए अगला बड़ा तोहफा एक बिल्कुल-नई Civic सेडान के रूप में आने वाला है, उसका लॉन्च अगले वर्ष की शुरुआत में तय है. Hyundai की बात करें तो ये कारनिर्माता कार्स और SUVs की एक लम्बी श्रृंखला को भारत लाने के लिए बेताब है. केवल अगले ही साल के भीतर-भीतर ये कार निर्माता अपनी पांच नई कार्स का लॉन्च करेगा.

वाया ETAuto