Ford Freestyle First Drive Review : Do i20 Active & Etios Cross Have Their Days Numbered? Ford Freestyle First Drive रीव्यू: क्या i20 Active और Etios Cross को मिलेगी टक्कर?

Ford Freestyle First Drive रीव्यू: क्या i20 Active और Etios Cross को मिलेगी टक्कर?

Ford आखिरकार अपने नए Freestyle के साथ क्रॉस-हैचबैक्स की दुनिया में एंट्री ले रही है. ये अपकमिंग फेसलिफ्ट Figo पर आधारित है और उसका रफ एंड टफ वर्शन है. इंटरनेशनल मार्केट में Ka+ Active के नाम से जाने जानी वाली Freestyle इंडिया में इस महीने में डेब्यू करेगी. ये Hyundai i20 Active और Toyota Etios Cross जैसे मॉडल्स से टक्कर लेगी. लेकिन क्या इसमें दम है? इसी बात का पता लगाने के लिए हम पहुंचे पिंक सिटी Jaipur में और इसे चलाने के बाद जब दिल्ली लौटे तो निश्चित तौर पर इससे इम्प्रेस हुए.

स्मार्ट लुक्स?

बेशक! इस बात में कोई दो राय नहीं की इंडिया के लोगों को बड़ी और बेहतर रोड प्रेसेंस वाली कार्स पसंद आती हैं और Freestyle इस बात पर खरी उतरती है. ये Figo जितनी ही लम्बी है लेकिन इसकी हाइट ज्यादा है और इसके बॉडी क्लैडिंग, रूफ रायल्स, एवं 15-इंच के अलॉय व्हील्स आपका ध्यान ज़रूर खींचते हैं. ये बात Jaipur के सड़कों पर लोग इसे लेकर काफी उत्सुक थे.

दोनों एंड पर बम्पर्स को रीवाइज़ किया गया है और इनके बारे में पहले ही काफी कुछ कहा गया है. इसके चतुर C शेप वाले इन्सर्ट, सूडो स्किड प्लेट, और क्रोम का काम का ना होना इसके लुक्स को बेहतर बनाते हैं. इसके हेडलैंप्स में काले रंग की मास्किंग है और रियर टेल लैम्प्स को भी ट्वीक किया गया है. साइड से आप रूफ रायल्स को भी नोटिस करते हैं और वो भी 50 किलो का भार उठाने की क्षमता रखने के साथ फंक्शनल हैं. Ford ने इसकी क्षमता को डिस्प्ले करने के लिए एक जनि-मानी साइकिल ब्रांड के साथ टाई-अप भी किया है और ये दर्शाया गया है की ये अपने रूफ पर दो साइकल्स को ढो सकती है.

Freestyle 6 रंगों में उपलब्ध है. Ford इसे अलॉय व्हील्स, बॉडी स्ट्राइप किट, रूफ रैप, सन वाइजर्स और रियर स्पोइलर जैसे आधिकारिक एक्सेसरीज़ के साथ भी पेश करेगी.

अन्दर की ओर?

Figo की समानताएं आपको अन्दर की ओर भी दिखती हैं. जहां ओवरऑल डिजाईन मोटे तौर पर बदला नहीं है, Ford यहाँ कलर थीम के साथ खेल रही है ऊपर के हिस्से के लिए चॉकलेट ब्राउन एवं नीचे के हिस्से के लिए काले रंग को इस्तेमाल किया गया है. इससे अन्दर में थोड़ी फ्रेशनेस है लेकिन अगर इसे थोडा रीडिजाईन किया जाता ताकि ये Figo से थोड़ा कम मेल खाए तो बेहतर होता. उदाहरण के तौर पर, स्टीयरिंग व्हील, स्पीडोमीटर कंसोल, एयर वेंट, वगैरह को रीडिजाईन किया जा सकता था.

जो Freestyle हमने ड्राइव की वो टॉप-ऑफ़-द-रेंज Titanium+ वर्शन थी और इसमें ढेर सारे फ़ीचर्स हैं. यहाँ टॉकिंग पॉइंट इसका नया 6.5 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है जो बेहतरीन ढंग से काम करता है. Ford ने EcoSport के इंटरफेस के साथ कॉम्पैक्ट SUV में गेम को बदला ही है और यहाँ भी कुछ अलग नहीं है. यहाँ Apple CarPlay और Android Auto सपोर्ट है और साथ ही लेटेस्ट SYNC 3 टेक भी उपलब्ध है.

स्पेस और कम्फर्ट के मामले में यहाँ कोई भी शिकवे नहीं हैं. सीट्स अच्छा फील देती हैं, और 5 घंटे की लम्बी ड्राइव के बाद किसी भी प्रकार की थकान महसूस नहीं हुई जिसके बाद हम अपने लॉन्ग-टर्म Compass में 4 घंटे की दिल्ली यात्रा आसानी से कर पाए. लेकिन फिर भी, लॉन्ग वीकेंड ड्राइव्स के लिए लेफ्ट फुट पर डेड पेडल और आगे आर्म-रेस्ट तो ज़रूरी हैं ही, क्रूज कण्ट्रोल होता तो क्या ही बात होती. और बाहर से बूट खोलने के लिए लीवर पर भी यही बात लागू होती है.

पीछे की सीट पर मैंने एक घंटे के लिए भी राइड ली और यहाँ विसिबिलिटी, राइड क्वालिटी, एवं स्पेस काफी इम्प्रेसिव हैं. हाँ, ये बात सही है की 6 फुट के पैसेंजर के लिए हेडस्पेस कुछ ज्यादा नहीं है, लेकिन लेग/नी रूम की यहाँ कोई कमी नहीं है. और जहाँ Ford ने फ्रंट डोर पैड्स के लिए पर्याप्त स्पेस दिया है, पीछे में स्टोरेज की कोई जगह नहीं है. अब इसे आप Jaipur की गर्मी का दोष कह सकते हैं लेकिन यहाँ रियर एसी वेंट की कमी ज़रूर खली.

ड्राइव कैसा है?

जब आप Freestyle को चलाते हैं, ये सारी छोटी दिक्कतें आपके दिमाग से निकल जाती हैं. हमें 96 पीएस और 120 एनएम उत्पन्न करने वाले नए 1.2-लीटर पेट्रोल मोटर को सैंपल करने का मौका भी मिला. इसका आउटपुट पुराने 1.2 लीटर यूनिट के मुकाबले 10% और 7% ज्यादा है. साथ ही, ये Dragon सीरीज वाला इंजन थोड़ा ज्यादा माइलेज भी देता है. जब हम इसे ड्राइव कर रहे थे, हम 4 लोगों को ओवरटाइम एसी चलाते वक़्त शहर और पहाड़ के इलाके में 12 किमी/घंटे के आसपास का माइलेज मिला.

जैसा ऊपर कहा गया है, हमने Freestyle को फुल्ली लोडेड रूप में चलाया. 4 लोग जिसमें दो अच्छी कद काठी वाले व्यस्क थे, ने सस्पेंशन को अच्छे ढंग से नीचा किया. बूट में हमारा लगेज था और फिर हम अच्छे शूट लोकेशन की तलाश में निकल पड़े. इसका 3-सिलिंडर इंजन आपको कोई चिंता का मौका नहीं देता और थोड़े से थ्रोटल इनपुट पर भी ये बिना किसी स्ट्रेस के आराम से पॉवर डिलीवर करता है. हम Nahargarh fort पर चढ़ाई के वक़्त मोड़ों से होते हुए गुज़रे और यहाँ भी इंजन ने अच्छा परफॉर्म किया. ये KB12 जैसा फ्री-रेव नहीं करता लेकिन एक बार जब रेव होने लगते हैं ये तेज़ी से रफ़्तार पकड़ते हैं.

लंच के बाद मैंने कार अकेले चलाई और तभी पता लगा की ये कार आपको आसानी से रोमांचित कर सकती है. इसका 1.2 लीटर इंजन आपको एक आसानी से 6800 आरपीएम तक ले जाता है. इसके लिमिटर बड़े सॉफ्ट ढंग से काम करते हैं और जिन्हें आंकड़ों से प्यार है वो इस बात को जानकार खुश होंगे की Freestyle पहले गियर में 50 और दुसरे गियर में 88 किमी/घंटे का आंकड़ा छू लेती है. गियर शिफ्ट की बात करते हैं तो Freestyle में बिल्कुल नया 5-स्पीड गियरबॉक्स है जिसके शिफ्ट-स्क्तिओं अगर बेहतरीन नहीं तो बेहतर ज़रूर हैं. हमारा मानना है की जैसे-जैसे कार चलेगी इसके गियर शिफ्ट और बेहतर हो जायेंगे.

क्या ये आरामदायक है?

हाँ. अपने वज़न के बावजूद इसका सस्पेंशन एक बार भी पूरा नीचे नहीं गया. हम शहर के बीचो-बीच चल रहे थे (हाँ उन मशहूर सनक्री रोड्स पर) और इस री-ट्यूनड सस्पेंशन को कोई दिक्कत नहीं आई. इसके स्ट्रट Figo वाले ही हैं लेकिन फाइन ट्यूनिंग ने इसे और भी बेहतर बना दिया है. Freestyle को चढ़ाई करते वक़्त कोनों में भी कोई दिक्कत नहीं आई. अधिकाँश समय इसकी स्टीयरिंग हल्की रहती है और इतना फीडबैक देती है की आप कण्ट्रोल में रहते हैं.

और पीछे की सीट्स में भी इसकी राइड क्वालिटी बेहतरीन है. इसमें एक फर्मनेस है लेकिन उबड़-खाबड़ रास्तों पर दिक्कतें नहीं आतीं. और सबसे अच्छी बात? इसके NVH लेवल इतने अच्छे हैं की केबिन में सस्पेंशन की आवाज़ बिल्कुल भी नहीं आती. और यही बात रोड के शोर पर भी लागू होती है. Freestyle का केबिन काफी शांत है.

और क्या?

Freestyle एक सेफ कार है और ये बात इसके फ़ीचर्स से ज़ाहिर होती है. इसके सभी वैरिएंट में ना ही दो एयरबैग, ABS और EBD स्टैण्डर्ड हैं, इसके सबसे हाई ट्रिम लेवल में 6 एयरबैग्स, एक्टिव रोलओवर प्रोटेक्शन, TCS (traction control), ESP (electronic stability control) और हिल लॉन्च असिस्ट भी है. फिर आपको SYNC 3 सेटअप के साथ इमरजेंसी असिस्ट तो मिलता ही है.

Ford अपने आफ्टर सेल्स सपोर्ट की मार्केटिंग पर बड़ा दांव खेल रही है और उसने इस बात को भी कन्फर्म किया है की 1 लाख किलोमीटर तक इसके पेट्रोल और डीजल वर्शन का रनिंग कॉस्ट मात्र 41 और 51 पैसे प्रति किलोमीटर आएगा!

वर्डिक्ट

Ford Freestyle कॉम्पैक्ट SUV और एक कन्वेंशनल हैचबैक के बीच का परफेक्ट मिश्रण है. ये जिस सेगमेंट में है वहाँ कम्पटीशन उतना तगड़ा नहीं है और ये बात इसके काम ज़रूर आयेगी. ये स्मार्ट दिखती है, इसका ड्राइव अच्छा है, और इसमें ढेर सारे सेफ्टी और टेक फ़ीचर्स हैं. ये बात सही है की कुछ फ़ीचर्स उपलब्ध नहीं भी हैं, लेकिन अगर Ford इसे आम Figo से 40,000 – Rs 50,000 रूपए ज्यादा के आसपास प्राइस करती है, Freestyle 6-8 लाख रूपए के ब्रैकेट पर राज करने के काबिल है.

×

Subscibe our Newsletter