मिलिए उड़ती हुई Ambassador होवर कार से!

आप में से अधिकतर लोग अब तक पहचान चुके होंगे — यह असली हवरिंग/फ्लाइंग Hindustan Ambassador कार्स नहीं हैं. यह डिजिटल रेंडर हैं जो हमारे रेंडर आर्टिस्ट ने Ambassadors की भारतीय सड़कों पर तस्वीरों को एडिट करके बनायीं हैं.

Flying Ambassador 1 Hover

अगर आप का बचपना Back to The Future फिल्में देखते हुए निकला है (यानी अब आप अंकल बन गए हैं) या फिर आप Harry Potter के ज़माने से हैं (यानि अब शादी के लिए हैं तैयार) तो फ्लाइंग कार ने आपको खूब रोमाचित किया होगा. अपने बचपन में हमें हमेशा से तमन्ना थी की ऐसी कोई कार एक दिन सच्चाई बने. मगर हमें यकीन है की आप में से किसी ने उड़ती हुई Hindustan Ambassador के बारे में कभी कल्पना भी नहीं की होगी!

Harry Potter फिल्मों में मौजूद उड़ती हुई कार्स में भले ही जादू की जरूरत पड़ी हो पर एक Ambassador को उड़ाने के लिए आपको चाहिए बस फोटोशोप. नज़र डालिए नीचे पेश हवरिंग Ambassador कार्स की 3 तस्वीरों पर.

Flying Ambassador 3 Hover

मज़ेदार बात यह है की हवर कार अब जल्द ही एक वास्तविकता होंगी. ऐसी कार भारत में भले ही न आयें पर इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता की ऐसी कारों की ज़रुरत ज्यादा से ज्यादा महसूस की जा रही है.

गुरुत्वाकर्षण-रोधी तकनीक — जो Ambassador कार्स को ऐसे हवर करा सकती है — अभी भी विकास के शुरूआती चरणों में है. यह अब भी साइंस फिक्शन फिल्मों तक सीमित है.

1990 के अंत में और 2000 की शुरुआत में Moller International ने अपनी VTOL (Vertical Take Off and Landing) एयरक्राफ्ट तकनीक से लोगों का काफी ध्यान आकर्षित किया था. यह देखने में फ्यूचरिस्टिक लगती थी. मगर शुरुआत में कुछ टेस्ट फ्लाइट के बाद इस कांसेप्ट ने कोई ख़ास सफलता प्राप्त नहीं की.

Flying Ambassador 2 Hover

वैसे फ्लाइंग कार्स कोई नहीं बात नहीं है. साल 1990 से लोग उड़ने वाली कार्स बनाने का प्रयास करते आये हैं. ऐसा पहला प्रयास था Curtiss Autoplane (जो कभी वास्तविकता नहीं बन पाई) और Arrowbile (यह भी सफल नहीं न हुई). Airphibian (1946) पहली कार थी जिसे एक हवाई जहाज का प्रमाण-पत्र मिला.

अभी हाल ही किये गए प्रयासों में शामिल हैं Moller International के असफल हुए प्रयास जैसे Terrafugia Transition, PAL-V, और ATVs जिन्हें पैरा-ग्लाइडर के नीचे फिट किया गया था.

E-Hang UAV फ़िलहाल Dubai में छोटे रास्तों के लिए टेस्ट की जा रही है और यह एयर टैक्सी की तरह हैं. यह सभी कार्स ड्रोन की मदद से नियंत्रित की जाती हैं. यह देखने में काफी अच्छी हैं और पहली असल उड़ने वाली कार्स हैं. मगर सच पूछें तो यह कार्स नहीं हैं बल्कि कार का विकल्प हैं. एक अन्य प्रोजेक्ट है KittyHawk जिसे Google के Larry Page ने स्पोंसर किया है और यह एक प्लास्टिक F1 कार और नाव का मेल लगती है.

तो क्या हमें कभी देखने को मिलेगी उड़ती हुई Ambassador? हमें लगता है की यह संभव है. ड्रोन के बढ़ते चलन के साथ ही अब उच्च तकनीक और पॉवर वाले इंजन बनाने लगे हैं. वैसे तो Ambassador एक बहतरीन कार है पर इसके वजन के कारण इसे हवा में तो नहीं उड़ाया जा सकता है. ऐसे में हमारे काम आएगी हल्की मॉडिफाइड Ambassador जो कई ड्रोन इंजन की मदद से उड़ सके. तो कौन करेगा यह काम?