5 नायब तरकीबें जो पुरानी कार्स खरीदते और बेचते वक़्त आपका समय और पैसा दोनों बचाएंगी

कार खरीदना और बेचना किसी की भी जिन्दगी के अहम फैसलों में से एक होता है. यह पता चलता है कोई भी अंतिम फैसला लेने से पहले इसमें खर्च होने वाले समय और पैसे को देखकर. ये समस्या और भी ज़यादा तब बढ़ जाती है जब ऐसा कोई फैसला किसी पुरानी कार को लेकर करना होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि खरीददार होने के नाते आप कम से कम पैसा खर्च करना चाहते हो और विक्रेता के नाते अपनी पुरानी कार के अधिक से अधिक पैसे चाहते हैं. क्योंकि आजकल समय और पैसा दोनों ही लोगों के पास काफी कम होता है, पेश हैं आप के लिए कुछ तरकीबें जो आपको एक बेहतर डील दिलवायेंगी हमेशा काम आएँगी फिर चाहें आप पुरानी कार खरीद रहे हों ये बेच.

1) सही कीमत

हम यकीन के साथ कह सकते हैं की किसी भी पुरानी कार को खरीदते या बेचते वक़्त आपको उसकी कीमत तय करने में सबसे ज्यादा दिक्कत आई होगी. हमारे पास है इसका इलाज़. अपनी कार बेचते वक़्त उसकी कीमत या तो ‘ऑरेंज बुक वैल्यू’ (ओबीवी) ये ज्यादा या बराबर रखें. और अगर आप पुरानी कार खरीद रहें है तो ओबीवी कीमत से ज्यादा पर कभी किसी पुरानी कार को न खरीदें. सबसे अच्छी बात यह है की किसी भी पुरानी कार की ओबीवी आपको मात्र 10 सेकंड्स में पता चल सकती है. क्योंकि OBV किसी भी पुरानी कार की कीमत जानने के लिए एक विश्वसनीय प्लेटफार्म है, ये खरीददार और विक्रेता दोनों के लिए एक मानक का काम करता है. आप चाहें विक्रेता हों या खरीददार, निश्चिंत रहें, आपको मिलेगी सबसे बढ़िया डील. तो कीमत को लेकर अब नहीं उड़ेगी रातों की नींद.

2) बंद हो चुकी कार्स पर रखें नज़र

 

अगर आप एक पुरानी कार खरीदने का मन बना चुकें हैं और सबसे अच्छे विकल्प की तलाश में हैं तो आपको ऐसी कार्स पर नज़र रखनी चाहिए जिनका उत्पादन बंद हो चुका है और ये अब शोरूम में भी नहीं हैं. उदाहरण के लिए Tata Aria और Chevrolet Cruze. ऐसी कार्स की री-सेल वैल्यू काफी कम होती है और जहाँ तक है आपको ये कार इनकी असल कीमत के एक-चौथाई दाम पर मिल जाएँगी. बेहतरीन कीमत पर बेहतरीन क्वालिटी — इससे बेहतर क्या होगा.

3) पुरानी डीजल कार्स में है बम्पर डील

 

अगर आप किसी पुरानी कार की तलाश में हैं जो की दिल्ली में इस्तेमाल नहीं होगी और आपके पास दिल्ली के बहार का मान्य पता प्रमाण पत्र है तो NCR क्षेत्र में बेची जा रहीं पुरानी डीजल कार्स आपके लिए कमाल का सौदा ले कर आ सकती हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल के नए कानूनों के मुताबिक 10 साल से पुरानी डीजल कार्स दिल्ली में नहीं चलायी जा सकतीं. तो दिल्ली में मौजूद ऐसी कार्स को उनके मालिक जल्दी में बेचने के प्रयास कर रहे हैं और आपको ये कम कीमत पर मिल सकती हैं.

4) एक्सचेंज बोनस डील पर रखें नज़र

 

अगर आप अपनी पुरानी कार बेचना चाहते हैं और नया मॉडल खरीदने की तैयारी में हैं तो नज़र रखें डीलर्स द्वारा चलायी जा रहीं एक्सचेंज बोनस डील पर. हो सकता है आपको जिस मॉडल की तलाश है उस पर आपकी पुरानी कार की कीमत के अतिरिक्त 15000 रूपए से 35000 रूपए तक का एक्सचेंज ऑफर हो. आसान भाषा में कहें तो अगर आप अपनी सबसे पुरानी कार भी बेचते हैं जो केवल कबाड़े में ही काम आएगी तो भी आपको नए मॉडल पर मिल सकती है तकरीबन 50,000 रूपए तक की छूट.

5) DIY है कमल की चीज़

 

इस बारे में कम ही बात होती है मगर पुरानी कार बेचने से पहले उस पर कुछ हज़ार रूपए खर्च करने से उसकी कीमत काफी बढ़ जाती है. उदाहरण के लिए पुराने टायर्स को नए सस्ते टायर्स से रिप्लेस करने से कार की कीमत तकरीबन 15000 से 25000 रूपए तक बढ़ जाएगी. इसी तरह अन्दर और बहार के हिस्सों को लिए स्पा ट्रीटमेंट सस्ता होगा मगर आपकी कार बिलकुल नयी चमचमाती दिखेगी. यही बात सही है बॉडी टच-उप के लिए जिनसे सभी निशान और धब्बे हटाये जा सकते हैं. याद रहे की एक नयी और बेहतर दिखने वाली कार हमेशा ही अच्छे दाम पर जाएगी. अगर आप Droom पर अपनी कार रजिस्टर करते हैं तो इसका भी आपको भरपूर फायदा होगा.