Don't be a Fool, Ignore These 10 Hyped Car Features to Save Your Money समझदार बनिये और कार के इन 10 फीचर्स को नज़रंदाज़ कर आने पैसे बचाइये

समझदार बनिये और कार के इन 10 फीचर्स को नज़रंदाज़ कर आने पैसे बचाइये

एक कार कितनी अच्छी है इसमें एक बड़ा हाथ उसमें मौजूद फ़ीचर्स का होता है. आमतौर पर ज्यादा फीचर्स और इक्विपमेंट वाली कार्स को बेहतर कार माना जाता है. लेकिन, हमेशा ही ऐसा हो, ये ज़रूरी नहीं होता. जहां फीचर्स कार में आराम और सहूलियत बढ़ाते हैं, ऐसे कुछ फीचर्स भी होते हैं जो निर्माता केवल कस्टमर्स को रिझाने के लिए मार्केटिंग स्टंट के तौर पर पेश करते हैं.

आज इस पोस्ट में हम ऐसे ही 10 फीचर्स लेकर आये हैं जिनका प्रचार बिना मायनों के ही किया जाता है और उन्हें इतना बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जाता है की कार खरीदते वक़्त कस्टमर इन्हीं पर ज्यादा केन्द्रित हो जाते हैं. लेकिन, अगर आपके पास पैसे की कोई कमी नहीं है, कोई भी फीचर बेकार नहीं होता. लेकिन, अगर आप बजट का पालन करना सही समझते हैं, इन फीचर्स को दरकिनार कर आप अच्छे-खासे पैसे बचा सकते हैं.

बिना बटन के पुश स्टार्ट

Push Button Start Cars

बिना चाबी का पुश बटन स्टार्ट फीचर अब अधिकांश B-सेगमेंट हैचबैक्स में भी आने लगा है. इस फीचर को अक्सर कार के टॉप-एंड ट्रिम में ऑफर किया जाता है और कार निर्माता इसे ऐसे हाईलाइट करते हैं जैसे ये फीचर होना बिल्कुल ज़रूरी है. हमें लगता है की ये फीचर कार की वैल्यू में कोई ख़ास इजाफा नहीं करता. जहां इसकी मदद से आप बिना चाबी निकाले कार को अनलॉक कर सकते हैं और इसे एक बटन दबा कर स्टार्ट कर सकते हैं, लेकिन ये कुछ ऐसा भी नहीं है जिसके बिना बात बिगड़ जायेगी. आजकल अधिकांश कार्स में रिमोट लॉकिंग होती है और अनलॉक बटन दबाना कोई मेहनत का काम नहीं होता. साथ ही कार के इंजन को चाबी से शुरू करना भी कोई बड़ा काम नहीं. इसलिए इस फीचर का ना होना भी कोई बड़ा असर नहीं डालेगा.

ऑटोमैटिक हेडलैंप्स

Automatic Wiper Cars

अब मेनस्ट्रीम कार निर्माता भी इस फीचर को B-सेगमेंट हैचबैक के टॉप-एंड ट्रिम्स और C-सेगमेंट सेडान्स में ऑफर करने लगे हैं. ऑटोमैटिक हेडलैंप एक लाइट सेंसर का इस्तेमाल करते हैं जिससे अँधेरा होने पर हेडलैम्प्स अपने आप जल उठते हैं. तो मूलतः ये फीचर आपको अँधेरे में हेडलैम्प्स को ऑटोमैटिक तरीके से जला कर मदद करता है. सच कहें तो ये इस फीचर की कोई ज़रुरत नहीं. अगर आपको ये पता नहीं चल रहा की आपको हेडलैंप कब ऑन करना चाहिए तो शायद आप कार चलाने योग्य नहीं हैं. कार का हेडलैंप ऑन करना एक ऊँगली चलाने से ज्यादा का काम नहीं है. इसलिए वो काम जो आसानी से किया जा सकता है उसके लिए ज़्यादा पैसे खर्च करना बुद्धिमता की बात तो नहीं ही है.

सनरूफ

Sunroof Images 3

जहां इंडिया में कई कार कस्टमर्स सनरूफ के लिए ज़्यादा पैसे खर्च करने को तैयार हैं ये हमारे देश जैसे गर्म मौसम वाली जगह के लिए बिल्कुल ही गैर-ज़रूरी फीचर है. पूरे साल इंडिया का मौसम काफी गर्म या ठंडा रहता है इसलिए आप अपने सनरूफ का लुत्फ़ मुश्किल से उठा पायेंगे. और तो और, शहरों में प्रदुषण एक नयी समस्या है और ऐसे में एसी चला कर खिड़कियाँ चढ़ाए रखना सबसे अच्छा कदम है.

बेज इंटीरियर

Beige Interior Cars

जहां इंडिया के कस्टमर्स को लगता है की बेज इंटीरियर से उनकी कार ज़्यादा प्रीमियम लगेगी, ये कभी नहीं भूलना चाहिए की इसे मेन्टेन करना किसी चुनौती से कम नहीं. बेज इंटीरियर आसानी से गंदे हो जाते हैं. और तो और आपको इंटीरियर साफ़ रखने में काफी समय और पैसा लगाना पड़ेगा. इसलिए ग्रे/ब्लैक इंटीरियर ज्यादा प्रैक्टिकल है.

टच वाले एसी कण्ट्रोल

Touch Ac Control

निर्माता अब कई कार्स के टॉप-एंड वैरिएंट में टच एसी कण्ट्रोल ऑफर करने लगे हैं. जहाँ ये देखने में अच्छे लगते हैं, इन्हें इस्तेमाल करने में ज़्यादा ध्यान देने की ज़रुरत होती है, इसलिए इन्हें इस्तेमाल करना ज़्यादा सुरक्षित नहीं होता. जहां कार इस्तेमाल करने वाले लोग बटन और नॉब को बिना देखे इस्तेमाल कर लेते हैं टच कण्ट्रोल में आपको ज़्यादा ध्यान देना होता है. इसलिए ड्राइविंग के दौरान इन्हें इस्तेमाल करने में आपका ध्यान भटक सकता है और एक्सीडेंट की संभावना बढ़ जाती है.

प्रोक्सिमिटी सेंसर

Proximity Sensors In Cars

कई हाई-एंड गाड़ियों में प्रोक्सिमिटी सेंसर्स लगे होते हैं जो किसी भी चीज़ को कार के बेहद करीब आने की स्थिति में अलार्म बजा देते हैं. इंडिया जैसे भीड़-भाड़ वाले देश में ये फीचर काफी परेशान करने वाला होता है. बाकी रोड इस्तेमाल करने वालों से दूरी बनाने की कोई गुंजाइश ही नहीं बचती.

एम्बिएंट लाइट

Ambient Lighting Cabin

आजकल कई कार्स में एम्बिएंट लाइट ऑफर होता है. एम्बिएंट लाइट से केबिन ज्यादा कूल ज़रूर लगता है लेकिन इससे ड्राईवर का ध्यान भटक भी सकता है. अगर आप अपनी गाड़ी में डिस्को करने का सोच रहे हैं टन शौक से एम्बिएंट लाइट वाली कार लीजिये.

अर्टिफीशीयल रूफ़ रेल्स

Roof Rails On Cars

आजकल अधिकांश SUVs में आर्टिफीशियल रूफ रेल्स होते हैं. लेकिन ये बस दिखावे के लिए होते हैं. जहां वो आपको SUV को स्टाइलिश लुक देते हैं. उनका और कोई इस्तेमाल नहीं होता. और तो और ये सस्ते भी नहीं होते. इसलिए इसे नज़रन्दाज़ करना ही बेहतर है.

वौइस कमांड

Voice Commands Steering

जहां वौइस कमांड काफी ज़रूरी साबित हो सकते हैं, इंडिया जैसे देश में ये काफी गैर-ज़रूरी हैं. इनमें से अधिकांश सिस्टम इंडियन एक्सेंट नहीं समझ पाते इसलिए इनका कोई काम नहीं. और इसे इस्तमाल करते हुए ड्राईवर का ध्यान भी भटक सकता है. जब तक आप किसी विदेशी एक्सेंट को कॉपी करने का नहीं सोच रहे इससे दूर ही रहिये.

ऑटोमैटिक वाइपर्स

Automatic Wipers Dash

ऑटोमैटिक वाइपर्स विंडस्क्रीन पर पानी को डिटेक्ट करने के लिए सेंसर्स का इस्तेमाल करते हैं. और ऑटोमैटिक हेडलैम्प्स की तरह ऑटोमैटिक वाइपर्स भी अति-प्रचार किये हुए फ़ीचर्स हैं. वाइपर्स को ऑन करने के लिए भी ख़ास मेहनत नहीं करनी होती. इसलिए इनके लिए ज़्यादा दाम चुकाना कोई बुद्धिमानी का काम नहीं.

×

Subscibe our Newsletter