Petrol Tanker में लगी आग; निडर ड्राईवर ने बचाई सबकी जान [Video]

एक बहादुर ट्रक ड्राईवर ने एक जलते हुए ट्रक को पेट्रोल पम्प से बाहर ड्राइव कर एक बड़े हादसे को होने से बचा लिया. ये वाक्या पिछले रात Madhya Pradesh के Narsinghpur में हुआ. एक ऑइल टैंकर ट्रक फ्यूल स्टेशन पर पट्रोल डिलीवर कर रहा था जब उसमें आग लग गयी. उसके ड्राईवर Sajid ने अपनी ज़िन्दगी दांव पर लगायी और जलते हुए ट्रक को पेट्रोल पंप से निकाल कर वो उसे खुले रोड पर लगभग 5 किलोमीटर तक ड्राइव कर के ले गए. इस बहादुर कारनामे के दौरान Sajid कई जगहों पर जल गए और उन्हें पास के अस्पताल में भारती कराया गया है. बाद में आग फायर डिपार्टमेंट द्वारा बुझा दी गयी. पेश है एक विडियो जो दिखाता है की आखिर ये सब कैसे हुआ.

Saijid समझाते हैं की आखिर हुआ क्या,

ट्रक में आग लगने के बाद मैं पहले सिर्फ उस जगह से भागने की कोशिश कर रहा था. लेकिन जल्द ही मुझे एहसास हुआ की मैं उस गाड़ी को एक सुरक्षिर दूरी तक ले जा सकता हूँ ताकि पेट्रोल पम्प के लोगों को चोट न आये.

जैसा आप विदोए में देख सकते हैं, आग विशालकाय है और जैसे ही ट्रक स्टेशन से बाहर निकलता है रोड पर थोडा फ्यूल गिर जाता है और ट्रक अपने पीछे आग की एक लकीर छोड़ते हुए बढ़ता है. जैसे ही ट्रक वहां से निकल रही है हमें दिखता है वो जहां भी गयी है वहाँ आग फ़ैल गयी है. इस आग में ड्राईवर के अलावे किसी और के चोटिल होने की खबर नहीं है. और इस जलते हुए ट्रक के चलते माल के नुक्सान का भी कोई अंदाजा अभी तक सामने नहीं आया है.

किस्मत से, भीड़-भाड़ वाले इलाके से गुज़रते वक़्त भी ट्रक में विस्फोट नहीं हुआ. अपनी जान दांव पर लगा कर ड्राईवर ने ज़रूर ही एक बड़े हादसा होने से बचा लिया क्योंकि फ्यूल स्टेशन में आमतौर पर बड़ी मात्र में अत्यंत ज्वलनशील फ्यूल होती है. फ्यूल स्टेशन की आग सैंकड़ों लोगों की जान ले सकती है खासकर अगर वो इस विडियो जैसे घनी आबादी वाले इलाकों में हो.

रीफ्यूल करते वक़्त ये ज़रूरी होता है की आप सभी सुरक्षा नियमों का पालन करें. अधिकाँश फ्यूल स्टेशन्स में रीफ्यूलिंग के वक़्त मोबाइल फ़ोन के इस्तेमाल पर मनाही होती है. और तो और, फ्यूल स्टेशन पर धूम्रपान करना या किसी भी ज्वलंत वस्तु को लाना काफी खतरनाक होता है.

Via DNA