BMW S1000RR राइडर की पुलिस द्वारा गिरफ्तारी दर्शाती है तमीज़ खरीदी नहीं जा सकती!

तमिल नाडू के Nagercoil में पुलिस ने स्पीड लिमिट तोड़ने और गाड़ी चलाते वक़्त मोबाइल इस्तेमाल करने के लिए एक सुपरबाइक राइडर को गिरफ्तार कर लिया है. BMW S1000RR के ओनर Sreenath कन्याकुमारी में एक बड़े कपड़ों के दुकान मालिक के बेटे हैं. उनकी सुपरबाइक को तब ज़ब्त कर लिया गया था जब उन्होंने पुलिसवालों को गाली दे दी.

ये वाक्या इस महीने के शुरुआत में हुआ था जब Sreenath को तमिल नाडू पुलिस ने तेज़ रफ़्तार पर चलने के लिए रोका था. पुलिस का कहना है की Sreenath राइडिंग के दौरान अपने मोबाइल फ़ोन पर बात भी कर रहे थे.

जिस पुलिस वाले ने Sreenath को रोका, उसने BMW S1000RR के इग्निशन में से चाबी निकाल कर उन्हें आगे की कार्यवाही के लिए रोड के किनारे आने को बोला. लेकिन, Sreenath आपा खो बैठे और पुलिस वाले से S1000RR की चाबी वापस मांगते हुए उसे गाली दी.

पुलिस ऑफिसर ने गुस्सा हुए Sreenath से बात करने की कोशिश कि लेकिन बाइकर बार-बार पुलिसकर्मी को गालियाँ दे रहा था. लेकिन पुलिस के चाबी वापस करने को मना करने से बाइकर और भी गुस्सा हो गया.

Bmw S1000rr Rider

अपने साथी पुलिस ऑफिसर को दिक्कत में देखकर दूसरे पुलिस वाले आ गए उन्होंने बाइकर को पकड़ कर मारना शुरू कर दिया ताकि हालत पर काबू पाया जा सके. पुलिस फिर बाइकर को नज़दीक के पुलिस स्टेशन पर ले गयी.

Sreenath के लिए दुर्भाग्य की बात है की उनकी बेकार की हरकतों के चलते उनपर कई चार्ज लगा दिए हैं. Sreenath पर ट्रैफिक नियम तोड़ने के अलावे, जनता के सेवक के काम में अवरोध डालने, मारपीट, और गाली-गलौज का चार्ज लगाया गया है.

पुलिस द्वारा ज़ब्त कीगई BMW S1000RR अभी BMW के इंडिया लाइन-अप में सबसे पावरफुल बाइक्स में से एक है. इस लीटर क्लास मोटरसाइकिल की कीमत 18.9 लाख रूपए एक्स-शोरूम दिल्ली से शुरू होती है और इसके प्रो वर्शन की कीमत 21.4 लाख रूपए है. BMW S1000RR को पॉवर इसके 999-सीसी इनलाइन 4-सिलिंडर इंजन है जो 196 बीएचपी और 105.8 एनएम उत्पन्न करता है और पॉवर को पीछे के चक्कों तक 6-स्पीड गियरबॉक्स से भेजा जाता है.

तमिल नाडू की ये घटना एक और सुपर बाइक राइडर्स के गैर-ज़िम्मेदाराना व्यवहार का एक और उदाहरण है इसी व्यवहार के चलते देशभर में बाइकर्स को लेकर एक बुरी छवि बन गयी है. जहां पुलिस ऑफिसर ने भले ही सुपरबाइक के इग्निशन से चाबी निकाल ली हो, ऐसा करने का एक सही कारण था क्योंकि अगर ओनर ने भागने की कोशिश की होती तो पुलिसकर्मी BMW की रफ़्तार से नहीं चल पायेंगे. राइडर की हरकतें दर्शाती हैं की इंडिया में महंगी गाड़ी खरीदने का मतलब ये नहीं है की आप कहीं भी बदतमीज़ी कर निकल सकते हैं.

विडियो — PolimerNews