गुस्साया हाथी Bajaj Discover चालक और autorickshaw पर हमला करता दिखाई दिया [वीडियो]

बढ़ती आबादी के साथ तेज़ विकास ने सड़कों को दुनिया भर में जंगलों की जगह हड़प लेना का कारण बना दिया है. ऐसी कई सड़कें हैं जिन्हें संरक्षित जंगलों के बीच से बनाया गया है. इन सड़कों पर लगातार गुज़रता ट्रैफिक और मानव हस्तक्षेप का प्रवाह देखा जाता है. Sri Lanka के इस वीडियो में एक हाथी को अपनी चिंता प्रकट करते देखा जा सकता है.

आख़िर यहाँ हो क्या रहा है?

इस वीडियो को एक कार में सवार इंसान ने रिकॉर्ड किया है. ये कार सड़क पर आते हाथी को देख कर ही रुक गई थी. ये हाथी जंगल से बाहर आकर सड़क उपयोगकर्ताओं को घूरने लगता है. वीडियो की शुरुआत में हाथी सभी यात्रियों को घूरता रहता है और फिर कुछ पलों के बाद वो अपनी सूंड से हमला करना शुरू कर देता है.

बाद में नाराज़ हाथी दौड़ कर एक Bajaj Discover चालक समेत कुछ बाइकर्स पर हमला करने लगता है. एक गुज़रती हुई बस ने हाथी की आड़ में आकर उसे कार पर हमला करने से भी रोकने की कोशिश की ताकि वो कार सुरक्षित रूप से गुज़र सके पर कार में बैठे लोग हाथी की वीडियो बनाने में ज़्यादा दिलचस्पी ले रहे थे.

वीडियो में एक Toyota वैन रूक कर हाथी को कुछ खाने को देती है जिसे वो फ़ौरन उठाकर खा लेता है. वीडियो के अंत में, हाथी एक TVS ऑटोरिक्शा पर भी हमला करने की कोशिश करते देखा जा सकता है.

सड़क पर जंगली जानवर

भारतीय सड़कों पर भी कई जंगली जानवर के द्वारा किए गए हमले के उदहारण हैं. जबकि वीडियो में दिख रहे मोटर चालक ऐसे जंगली जानवरों की स्पॉटिंग और इनके बहुत करीब से ड्राइव करने के आदि हैं लेकिन ये बहुत खतरनाक साबित हो सकता है. यहां कुछ बातें हैं जिन्हें सड़क पर जंगली जानवरों दिखाई देने पर ध्यान में रखना चाहिए।

  • कभी भी शोर ना मचाएं या अचानक हिलना डुलना ना करें। निरंतर गति बनाए रखना ऐसी परिस्थितियों में मदद करता है.
  • यदि किसी जंगली जानवर ने रास्ता रोका हुआ है तो सुनिश्चित करें कि आप एक सुरक्षित दूरी पर रुकें हैं और जानवर के रास्ता छोड़ देने की प्रतीक्षा करें।
  • ऐसी स्थितियों में कभी घबराइए नहीं । घबरा कर हड़कम पैदा करने से जानवर परेशान हो सकता है और वो आप पर हमला कर सकता है.
  • हमेशा याद रखें कि जानवर आपके क्षेत्र में नहीं है बल्कि आप उसके क्षेत्र में हैं और हमेशा जानवरों का सम्मान करें।
  • जंगली जानवरों को कभी भी भोजन न दें। उन्हें इसकी आदत लग जाती है और यात्रियों से आसान भोजन नहीं मिल पाने पर वो गुस्सा हो जाते हैं.

 

Source