Abandoned BMW X5 Luxury SUV Being Used as a Shelter! सड़क किनारे खड़ी BMW X5 लक्ज़री SUV अब किसी का घर बन चुकी है!

सड़क किनारे खड़ी BMW X5 लक्ज़री SUV अब किसी का घर बन चुकी है!

BMWs इंडिया में अपने ऊंचे कीमत के चलते काफी दुर्लभ हैं. लेकिन फिर भी आप कई जगहों पर अकेले छोड़े हुए लक्ज़री कार्स को देख सकते हैं. या तो ये गाड़ियां पुलिस कई कारणों से कब्ज़ा कर लेती है या उनके ओनर्स नये और प्रीमियम मॉडल्स खरीदने के बाद उन्हें त्याग देते हैं. पेश है ऐसी ही रोड के किनारे खड़ी एक BMW X5 जिसे रोड के किनारे रहने वाले लोग इस्तेमाल कर रहे हैं.

यहाँ क्या हो रहा है?

ये एक पहली जनरेशन वाली BMW X5 है जिसे इंडिया में 2008-09 में लॉन्च किया गया था. इस लक्ज़री SUV में ऑप्शनल सीट्स के साथ 7 लोग तक बैठ सकते थे. इस लक्ज़री गाड़ी को Maharashtra के Kalina के Sundar Nagar में देख गया है और इसे फुटपाथ पर रहने वाले लोग अपनी झोपडी के लिए सहारे के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं. ये BMW बदतर हालत में रोड के किनारे कड़ी कर दी गयी है. गाड़ी के वाइपर्स एवं दूसरे हिस्सों से रस्सियाँ बाँधी हुई देखी जा सकती हैं.

ये फेसलिफ्ट से पहले वाली BMW X5 है जिसके बेस मॉडल की कीमत 50 लाख रूपए थी. ये एक बेहद महंगी गाड़ी थी जो इंडिया में Completely Built Unit (CBU) के तौर पर आती थी. इस गाड़ी की हालत देख कार प्रेमियों और शौकीनों के आंसू निकल आयें. ये एक अकेले छोड़ी हुई गाड़ी लगती है क्योंकि पुलिस द्वारा ज़ब्त की हुई गाड़ी थाने में ही रहती है.

इस कार की बॉडी अच्छी हालत में है लेकिन फ्रंट ग्रिल डैमेज है. हेडलैम्प्स, विंडशील्ड, और व्हील्स जैसे दूसरे पार्ट भी ठीक-ठाक लगते हैं. ये कार पेट्रोल और डीजल दोनों वर्शन में आती थी. इसका V8 पेट्रोल इंजन अधिकतम 407 बीएचपी और 600 एनएम, और 6-सिलिंडर डीजल इंजन अधिकतम 245 बीएचपी और 540 एनएम उत्पन्न करता है.

चूंकि ऐसी इम्पोर्टेड गाड़ियों को मेन्टेन करना बेहद महंगा होता है ओनर ने इसे कुछ सालों के इस्तेमाल के बाद छोड़ दिया होगा. ऐसी लक्ज़री गाड़ियाँ बेहद मज़बूत होती हैं और अच्छे से ख़याल रखने पर ये दशकों तक चलती हैं. लेकिन ये इंडिया की अकेली छोड़ी हुई इकलौती लक्ज़री कार नहीं है. ऐसे कई दुर्लभ गाड़ियाँ हैं जिनके ओनर्स के नज़रन्दाज़ करने के चलते ये ज़ंग खा रही हैं. पुलिस के थानों में भी कई लक्ज़री गाड़ियाँ ख़राब हालत में दिख जाती हैं.

सोर्स

×

Subscibe our Newsletter