भारत की 7 माइक्रो कार्स जिनके बारे में शायद आपने पहले कभी नहीं सुना होगा

भारतीय मोटरसाइकिल निर्माता Bajaj कुछ समय से अपनी Qute क्वाड्रीसाइकिल शोरूम्स तक पहुंचाने में लगा पड़ा है. ख़बरों के अनुसार Qute भारतीय सड़कों पर उतरने के लिए आख़िरकार तैयार है. इसके चलते हमने आज अपने देश के ऑटोमोटिव अतीत को खँगाल कर देखा कि क्या ऐसी विचित्र और छोटी और कार्स भी थीं जिनके बारे में आपने पहले कभी नहीं सुना हो.

Bajaj PTV

Qute माइक्रो कार्स की दुनिया में Bajaj की पहली पेशकश नहीं है. PTV (private transport vehicle) 1980 के दशक में बनी थी, जब ऑटोरिक्शा निर्माण संख्या पर लिमिट लगाई गई थीं जिसके के फलस्वरूप Bajaj एक रिक्शा से एक कार बनाने की कोशिश में था.

PTV एक ऑटोरिक्शा के फ्रेम पर आधारित थी जिसे काट कर छोटा किया गया था और ये ऑटोरिक्शा के पारम्परिक हैंडलबार्स की जगह एक रैक-पिनियन स्टीयरिंग व्हील सेटअप के साथ थी. Bajaj PTV में 145 सिसिस ऑटो-रिक्शा इंजन और मेटैलिक बॉडी थी. इसके 10 प्रोटोटाइप बनाए गए थे, लेकिन किसी भी मॉडल ने कभी भी उत्पादन में प्रवेश नहीं किया.

Sipani Badal

Sipani Badal भारत का British Reliant Robin के लिए मुँहतोड़ जवाब था. हालाँकि Reliant की मद्दद के बावजूद और Robin के विपरीत, Badal एक फ्लॉप थी.

Sipani Badal एक रियर व्हील ड्राइव 198 सीसी 2-स्ट्रोक इंजन द्वारा संचालित थी. दुर्भाग्यवश, Sipani Badal की फाइबरग्लॉस बॉडी और थ्री-व्हीलर आकार भारतीय खरीदारों को ज़यादा पसंद नहीं आई.

Scootacar

भारत के German Fuldamobil के निर्माण के प्रयास में, Scootacar में भी तीन पहिए थे, हालांकि इसमें पीछे की ओर एक ही पहिया था. अपने जर्मन समकक्ष के विपरीत, जो Sachs इंजन द्वारा संचालित था, Scootacar में 500 सीसी Villiers यूनिट था.

Gogomobil

Gogomobil एक German माइक्रोक्रॉयर थी जिसका मूल्यांकन भारत में किया जा रहा था जब Jawaharlal Nehru भारत के प्रधान मंत्री थे.

बड़े परिवार के लिए छोटी कार के रूप में विपणन की गई, Gogomobil, 250 सीसी सिंगल सिलिंडर इंजन द्वारा संचालित थी. ये कार 100 किलोमीटर/घंटे की टॉप-स्पीड तय कर लेती थी. दुर्भाग्य से ये प्रोजेक्ट चलने से पहले ही समाप्त होगया.

Meera Mini Car

Meera Mini कार Maharashtra के Kolhapur जिले से एक माइक्रोक्रार की एक स्वदेशी कोशिश थी. इस कार की कई पीडियां बनाई गई थीं जिसमें से पहले जेनेरशन का मॉडल यहाँ दिखाया गया है, लेकिन उस समय की सीमाओं के कारण Meera Mini कार वास्तव में कभी भारतीय सड़कों तक नहीं पहुँच पाई थी.

इस कार में 19 बीएचपी उत्पन्न करने वाला, एयर/वॉटर कूल्ड 4-स्ट्रोक इंजन था जो 88.5 किलोमीटर की रफ़्तार तय कर लेता था.

Trishul Diesel Tourer

Trishul Diesel Tourer दरअसल जीप का एक छोटा वर्शन थी जो Bihar के Patna में Trishul Crafts Auto Ltd द्वारा बनाई गई थी.

इस निहायती छोटी जीप में चार सीटें, रैगटॉप रूफ जिसे हटाया जा सकता था और Trishul हुड ऑर्नामेंट थे. Trishul Diesel Tourer में सिंगल सिलिंडर Greaves-Lombardini डीजल इंजन था.

Rajah Creeper

Rajah Motors Creeper माइक्रोकार्स की दुनिया को 21 वीं शताब्दी में लाई थी जो एक छोटी सी 2-सीटर, 4-व्हील्ड कार थी जो एक बॉक्सी ATV की तरह दिखती थी.

Rajah Creeper दिल्ली की 2012 Auto Expo में दुनिया को दिखाई गई थी. Creeper केवल 1.25 मीटर चौड़ी है और 800 सीसी इंजन द्वारा संचालित है.

इमेज कर्टसी Team-BHP