5 साल की बच्ची चला रही TVS Jupiter: RTO ने निलंबित किया पिता का लाइसेंस [विडियो]

इंडिया में नाबालिग ड्राइविंग और राइडिंग एक बहुत बड़ी दिक्कत है. अलग-अलग राज्य इस दिक्कत से अपने तरह से निबट रहे हैं. जहां कुछ राज्यों ने नाबालिग बच्चों को गाड़ी चलाने की अनुमति दे रहे अभिभावकों को जेल भेजने का फैसला किया है, केरल जैसे राज्यों ने अभिभावकों का लाइसेंस निलंबित करने जैसे कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. हाल ही में, केरल पुलिस ने एक अभिभावक का लाइसेंस तब निलंबित कर दिया जब उसकी बेटी का स्कूटर चलाते हुए विडियो वायरल हो गया था.

तो हुआ क्या?

इस विडियो में आप चार लोगों के एक परिवार को स्कूटर पर चलते हुए देख सकते हैं. इस विडियो को कार से फिल्माया गया है और ये दिखाता है की पिता अपनी 5 वर्षीय बेटी को एक सार्वजनिक सड़क पर TVS Jupiter संभालने को दे देता है. उस छोटी बच्ची को स्कूटर के फ्लोरबोर्ड पर खड़े होकर उसे अच्छे रफ़्तार पर चलाते हुए देखा जा सकता है.

जो लोग इस विडियो को बना रहे थे उन्होंने स्कूटर ओनर को ऐसा करने से मन किया. नाबालिग ड्राइविंग की दिक्कत के अलावे, टू-सीटर स्कूटर पर 4 लोग बैठे थे, और उसपर भी केवल एक ही इन्सान ने हेलमेट पहन रखा था.

केरल पुलिस ने इस विडियो का संज्ञान लेते हुए स्कूटर पर बैठे इस परिवार की तलाश शुरू कर दी. बाद में शाम को, केरल Motor Vehicle Department (MVD) ने पिता का लाइसेंस निलंबित कर दिया. लाइसेंस एक साल एक लिए निलंबित किया गया है. मामले की जांच कर रहे Edapally पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने कहा है की उन्होंने अभी तक राइडर पर केस दर्ज नहीं किया है लेकिन आगे की कार्यवाही जल्द ही की जायेगी.

नाबालिगों को चलाने देना

सार्वजनिक सड़कों पर नाबालिगों का गाड़ी चलाना खतरनाक और गैरकानूनी होता है. नाबालिगों को गाड़ी चलाने देने के लिए लोगों को दंडित किया जा सकता है. बिना ट्रेनिंग के ड्राइव/राइड करना बाकि रोड इस्तेमाल करने वालों के लिए खतरनाक हो सकता है और इससे बड़ी दुर्घटना भी हो सकती है. अगर आप चाहते हैं नाबालिग लोग ड्राइविंग सीखें, तो ऐसे कई रेसिंग और गो-कार्टिंग ट्रैक्स हैं जहां बच्चे एक सुरक्षित वातावरण में गाड़ियाँ चलाना सीखते हैं. सार्वजनिक सड़क पर ऐसा करना गैर-ज़िम्मेदाराना और बेवकूफी भरा होता है.

सोर्स