ये Honda City कैसे बन गयी एक Bugatti Veyron? जानिये इसका राज़

Bugatti Veyron लीजेंडरी कार्स में से एक है. ये दुनिया में सबसे फेमस सुपरकार्स में से एक है. जब Volkswagen Group ने पहली बार 400 किमी/घंटे चलने वाली सुपरकार बनाने की बात की थी, पूरी दुनिया उनपर हंस रही थी. Veyron को विकसित करने में असल में बहुत समय और पैसा लगा. कहा जाता है की ये प्रोजेक्ट इतना महंगा साबित हुआ की Bugatti ने हर Veyron पर पैसे गँवाए. लेकिन, इस बात में कोई शक नहीं की, ये इंजीनियरिंग का एक बेहतरीन नमूना है. चूंकि Veyron इतनी दुर्लभ और महंगी है कई लोग इसे खरीद नहीं पाए थे. इसलिए, कुछ लोगों अपनी Veyron खुद बनाने की ठानी. पेश हैं ऐसी ही 5 रेप्लिका Bugatti Veyrons जो आम कार्स पर आधारित हैं.

Honda Cityron

ये दूर से काफी हद तक एक असल Bugatti जैसी दिखती है और इसपर काफी अच्चा काम किया गया है. और जब आप नज़दीक आते हैं तभी आपको पता लगता है की ये Veyron नहीं है. ये एक Honda City पर आधारित है. और बाहर ही नहीं, अन्दर भी अपग्रेड किये गए हैं.

इसमें पीछे की ओर एक फॉल्स क्वाड टर्बो इंजन भी है, और इसके चलते कम से कम आम लोगों को ये एक असली चीज़ जैसी दिखती है.

Veyron के लुक को बिलकुल कॉपी करने की कोशिश में इसके डैश और स्टीयरिंग व्हील दोनों को ही रीडिजाईन किया गया है. गियर लीवर और इंस्ट्रूमेंट बाईनेकल को Honda City से लिया गया है. और मानना पड़ेगा इसपर बहुत अच्छे से काम किया गया है.

Tata Veyron AMT

ये Veyron Nano AMT पर आधारित है. हमें लगता है की इसके कन्वर्शन के साथ गाड़ी के मालिक ने बहुत अच्छा काम किया है क्योंकि बाहर से ये कार अच्छी दिखती है. कार में Nano AMT का ही 624 सीसी इंजन लगा है जो 37 बीएचपी और 51 एनएम उत्पन्न करता है. AMT कार को और प्रैक्टिकल बनाती है और इसे ट्रैफिक में आसानी से चलाने की सहूलियत भी देती है.

अन्दर की ओर ओनर से प्लश इंटीरियर सेटअप को चुना है जिसमें काफी सारा लेदर और वुड इस्तेमाल किया गया है. लेकिन इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर पुराने कार का ही है और अभी भी डैशबोर्ड के बीचो-बीच लगा है. डैशबोर्ड के ट्रिम को भी बदला गया है और जैसा की फोटो में देखा जा सकता है इसमें लेदर और वुड का काम है.

Honda Accron

Sant Gurmeet Ram Rahim Singh Insan एक धार्मिक गुरु के साथ ही एक अभिनेता भी थे. ये वही इंसान है जिसने अपनी मूवी MSG रिलीज़ की थी. इसी इन्सान के पास ये Veyron रेप्लिका थी. ये कार पुराने जनरेशन Accord पर आधारित थी और इस बात का पता सिर्फ फ्रंट डोर्स और मिरर को देख कर लगता है.

इस कार में 3.0 लीटर V6 इंजन है जिसका साथ देता है एक आटोमेटिक गियरबॉक्स. इस कार की पेंट स्कीम काफी लाउड है और आगे का ग्रिल दिल के आकार का है. और असली Veyron से इतर इसमें एक सनरूफ भी है. और ये बात तो पक्की है की जहां भी जाए, ये गाड़ी लोगों का ध्यान ज़रूर खींचेगी.

Maruti Estron

इंडियन शौकीनों के बीच Esteem काफी पॉपुलर कार रही है. ढेर सारे मॉडिफिकेशन ऑप्शन वाली ये सस्ती सेडान Esteem रैली और रेस सर्किट में एक जाना माना नाम है. इसके ओनर की इच्छा थी की उसकी Esteem एक Veyron जैसी दिखे और ये है उसका नतीजा.

ये थोड़ी संकरी दिखती है और थोड़ी अजीब भी. इस गाड़ी में एक 1.3 लीटर इंजन लगा है जो Esteem के इंजन जैसे ही 85 बीएचपी का पॉवर उत्पन्न करता है. ये गाड़ी हैदराबाद में Sf Carz द्वारा बनायी गयी थी.

एक और Veynon

ये इंडिया की सबसे पहली रेप्लिकास में से एक थी. उस समय इसके ओनर के पास एक Ghost और Gallardo थी. फिलहाल उनके पास एक Aventador और एक 458 Speciale है. लेकिन हम रेप्लिका की बात करते हैं. ये इंडिया की सबसे सस्ती गाड़ी Nano पर आधारित है.

इसके ओनर ने इसे काफ़ी अच्छे से कन्वर्ट किया. कार के साइज़ को देखते हुए इसकी डिटेलिंग भी काफी अच्छी है. इस कार के मॉडिफिकेशन मशहूर डिज़ाइनर DC द्वारा किये गए हैं और ये बात डिटेल्स पर फोकस से झलकती भी है.

फ़ोटो — 2,  345