बैंगलोर में Aero Show में लगे आग में जली 300 के आसपास गाड़ियां, ये था आग लगने का कारण

पिछले शनिवार 23 फरवरी को Bengaluru Aero India इवेंट के पार्किंग मेंखड़ी 300 गाड़ियां बेकाबू आग के चलते जलकर ख़ाक हो गयीं. इसके पहले, कुछ रिपोर्ट्स आ रही थीं जिसमें ये दावा किया गया था की इस आग का कारण पार्किंग लॉट के झाड़ियों में फेंकी गयी एक सिगरेट हो सकती है. लेकिन एक नयी रिपोर्ट में दावा किया गया है की आग का कारण ऊन्न्ची झाड़ियों में खड़ी एक गाड़ी का गर्म एग्जॉस्ट हो सकता है.

23 फरवरी की आग में 278 कार्स पूरी तरह बर्बाद हो गयीं थीं वहीँ 73 गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुईं. रक्षा मंत्री Nirmala Sitharaman ने पार्किंग का मुआयना भी किया. उन्हें मौके पर बताया भी गया की आग का कारण एक कार का ओवरहीट हुआ साइलेंसर हो सकता है.

पार्किंग लॉट में लम्बी सूखी घास कई जगहों पर मौजूद थी और एक जगह आग लगते ही इसे फैलने में देर नहीं लगी. तेज़ हवाओं के चलते आग और तेज़ी से फैली. रक्षा मंत्री को ये जानकारी एयर फ़ोर्स कर्मी, अग्निशमन विभाग के DG, और आपदा प्रबंधन की टीम ने दी. ये टीम इस मामले की तहकीकात कर रही थी एवं आग के स्त्रोत को भी ढूंढ रही थी.

ये आग पूरे इलाके में कुछ ही मिनटों में फ़ैल गयी और यहाँ खड़ी अधिकाँश गाड़ियों को बचाया नहीं जा सका. Aero India इवेंट Yelankha एयरबेस पर आयोजित किया गया था, पर घटना में किसी के भी मरने की खबर नहीं है.

ऊंची घास और झाड़ियाँ हो सकती हैं खतरनाक

ऊंची घास और सूखी झाड़ियों में आग बहुत तेज़ी से फैलती है. अगर किसी गाड़ी का एग्जॉस्ट बेहद गर्म हो जाता है तो उसके झाड़ियों एक कुक देर तक संपर्क में रहने के कारण आग तेज़ी से लग सकती है.

अगर किसी भी गाड़ी को 30 मिनट तक चलाया जाए तो उसका एग्जॉस्ट इतना गर्म हो जाता है की उससे आग आसानी से लग सकती है. आपको हमेशा अपनी गाड़ी को ऐसी जगहों से दूर खड़ी करनी चाहिए जहां आसपास सूखी झाड़ियाँ ना हों, और पार्क कर इस बात को सुनिश्चित करना चाहिए की आपके एग्जॉस्ट से कुछ सट ना रहा हो.

Aero

अधिकाँश गाड़ियों में गाड़ी के नीचे के एग्जॉस्ट सिस्टम किसी चीज़ से ढंका नहीं होता और इसी के चलते सूखी घास के ऊपर भी गाड़ी को खड़ी करना खतरनाक हो सकता है. लम्बी दूरी तय करने के बाद हमेशा गाड़ी को सपाट सतह पर खड़ी करने की कोशिश करें. गर्म एग्जॉस्ट के चलते गाड़ी के नीचे प्लास्टिक या कुछ पत्तों में भी आग लग सकती है.

ऊंची घास पर चलाना उतनी बड़ी दिक्कत नहीं होती क्योंकि एग्जॉस्ट घास को केवल कुछ देर के लिए ही छूता है और इससे उसे जलने का समय नहीं मिल पाता.

ना केवल बाहर के सामान से बल्कि गाड़ी के अन्दर रखा सामान भी आग का कारण बन सकता है. गाड़ी के अन्दर रख एक छोटा लाइटर भी सीधे धूप पड़ने के कारण फट सकता है जिससे आग लग सकती है. हमेशा ऐसी गाड़ियों को अन्दर छोड़ने से बचिए और पार्किंग पर ख़ास ध्यान बनाए रखिये.