कस्टम एयर सस्पेंशन वाली केरल की ये 2 Honda Accords आपके होश उड़ा देंगी

दुनियाभर के शौकीनों के बीच लोअर किये हुए कार्स बेहद मशहूर हैं, लेकिन हमें भारत में इनके ज़्यादा उदाहरण देखने को नहीं मिलते. यहाँ लोअर की हुईं कार्स की कमी के पीछे का बड़ा कारण यहाँ की खराब सड़कें हैं जिससे कम ग्राउंड क्लीयरेंस वाली इन कार्स को छोटे-मोटे गड्ढों को पार करने में दिक्कत होती है. इस दिक्कत को भी दूर किया जा सकता है लेकिन इसका उपाय थोडा महंगा है. दो अलग जनरेशन वाली ये दो Honda Accords दर्शाती हैं की बिना अंडरबॉडी को स्क्रैच किये हुए गाड़ी को लो स्टांस कैसे दिया जाए.

इस विडियो में देखि जाने वाली दोनों ही कार्स में AirRex एयर सस्पेंशन सिस्टम के साथ कई सारे मॉडिफिकेशन हैं. ये आफ्टरमार्केट एयर सस्पेंशन सिस्टम केवल हाई-एंड गाड़ियों के साथ मिलता है और इसे लगाना बेहद महंगा होता है. दोनों ही Honda Accord में ये एयर सस्पेंशन चारों चक्कों पर लगाया गया है और ये गाड़ी को ज़रुरत पड़ने पर ऊपर और नीचे होने देते हैं.

रोड पर नीचे स्टांस और ट्रैक पर ड्राइविंग के लिए, सस्पेंशन को नीचा किया जा सकता है और वहीँ उबड़-खाबड़ सड़कों के लिए कार को उठाया भी जा सकता है. ये इस बात को सुनिश्चित करता है की गाड़ी को बिना डैमेज के हर जगह इस्तेमाल किया जा सके. आप इस लाल रंग की 1995 Honda Accord के हाइट को एक मोबाइल फ़ोन एप्प के ज़रिये एडजस्ट होते हुए देख सकते हैं. ये एक बेहद कूल फीचर है.

एयर सस्पेंशन सिस्टम के अलावे, दोनों ही गाड़ियों में ढेर सारे मॉडिफिकेशन हैं. हरी रंग की Honda Accord में Ferrada wheels व्हील्स हैं जो कार पर बेहद अच्छे लग रहे हैं. इसमें नेगेटिव कैमबर भी है जो इस गाड़ी के स्टांस को और भी बेहतर बनाता है. इस हरी रंग की Honda Accord में और भी कई मॉडिफिकेशन हैं जिसमें आफ्टरमार्केट LED हेडलैम्प्स, मॉडिफाइड टेल लैम्प्स, बॉडी किट, कस्टम पेंट जॉब, आफ्टरमार्केट एग्जॉस्ट सिस्टम, मोबाइल फ़ोन पर OBD रीडर, एवं और भी कई बदलाव शामिल हैं. इसके इंजन में भी कुछ बदलाव किये गए हैं जो गाड़ी के पॉवर को बढ़ाता है लेकिन सटीक आंकड़े उपलब्ध नहीं हैं.

इस लाल रंग की Honda Accord में नेगेटिव कैमबर में आफ्टरमार्केट लो-प्रोफाइल टायर्स और रिम्स हैं. इसके दूसरे मॉडिफिकेशन में हर हेडलैंप में 4 पॉड वाले आफ्टरमार्केट हेडलैम्प्स, आफ्टरमार्केट बॉडी किट, कस्टम पेंट जॉब, और आफ्टरमार्केट एग्जॉस्ट जैसी चीज़ें शामिल हैं. अभी इस बात की जानकारी मौजूद नहीं है की इस लाल 1995 Honda Accord में कोई इंजन मॉडिफिकेशन किये गए हैं या नहीं.

दोनों ही सेडान को मशहूर गेराज Grid7 ने मॉडिफाई किया है. ऐसे मॉडिफिकेशन काफी अच्छे दिखते हैं लेकिन आपको इनके कानूनी वैधता की जांच हमेशा कर लेनी चाहिए. भारत में ऐसे मॉडिफिकेशन आमतौर पर गैरकानूनी होते हैं और पुलिस ऐसे कार्स को ज़ब्त कर सकती है. लेकिन, इन्हें केवल ट्रैक पर या प्राइवेट प्रॉपर्टी में इस्तेमाल किया जा सकता है.