अपनी ऑफ-रोड किंग Isuzu V-Cross को आप इन 10 तरीकों से और भी बेहतर बना सकते हैं!

जहां इंडिया में पिक-अप ट्रक्स कुछ ख़ास सफल नहीं हुए हैं, Isuzu V-Cross ने इन गाड़ियों को और ज़्यादा पॉपुलर ज़रूर बनाया है. कई नए कार खरीदने वाले लोगों ने इस लाइफस्टाइल गाड़ी को खरीदा है और लगता है की आने वाले कुछ समय के लिए V-Cross सुर्ख़ियों में बनी रहेगी. जहां Isuzu V-Cross की अपील काफी बड़ी है, पेश हैं 10 तरीके जिनसे आप इसे और बेहतर बना सकते हैं.

रीमैप

Isuzu V-Cross में एक 2.5-लीटर टर्बो डीजल मोटर है जिसका आउटपुट 134 बीएचपी और 320 एनएम है. ये इस पिक-अप ट्रक को काफी पावरफुल बनाता है. लेकिन, कहते हैं न की जितना है काफी नहीं है. इसी बात की तर्ज पर आप V-Cross को बेहतर परफॉरमेंस के लिए रीमैप कर सकते हैं और इसे और भी ज़्यादा पावरफुल बना सकते हैं. V-Cross के लिए रीमैप ऑफर करने वाला एक पॉपुलर कस्टमाईज़र है Pete’s. कहा जाता है की इस रीमैप को इनस्टॉल करने से कार की परफॉरमेंस 15-20% तक बढ़ जाती है. पॉवर और टॉर्क में बढ़ोतरी से V-Cross और तेज़ बन जाती है.

लिफ्ट किट

Isuzu V-Cross ऑफ-रोडिंग में पर्याप्त मात्र में काबिल है. लेकिन, इसके लम्बे व्हीलबेस के चलते V-Cross अक्सर कुछ खड़े चढ़ानों पर नहीं चढ़ पाती. और एक लिफ्ट किट के ज़रिये ये दिक्कत भी दूर की जा सकती है. एक आम लिफ्ट किट कार के ग्राउंड क्लीयरेंस को 2 से 6 इच तक बढ़ा देती है. ये इस पिक-अप ट्रक को और तगड़ा स्टांस एवं बेहतरीन स्ट्रीट प्रजेंस देती है. लेकिन याद रखें की लिफ्ट किट इनस्टॉल करने से गाड़ी की हिश स्पीड स्टेबिलिटी कम हो जाती है.

बड़े टायर्स

V-Cross के रोड प्रजेंस को बढाने का एक दूसरा तरीका है इसमें बड़े टायर्स लगाना. बड़े टायर्स इस लाइफस्टाइल गाड़ी को और भी भयावह लुक देते हैं. साथ ही ऑफ-रोडिंग के दौरान ये अतिरिक्त ग्रिप भी देते हैं. इसके बुरे असर में परफॉरमेंस और माइलेज में कमी और ज्यादा टूट-फूट शामिल है.

लोअरड

जहां आपमें से कई लोग इस पिक-अप ट्रक में लिफ्ट किट लगा इसकी ऊंचाई बढाने के बारे में सोच रहे होंगे, कुछ ऐसे लोग भी हैं जो हाई-स्पीड स्टेबिलिटी बढाने के लिए V-Cross को लोअर करवाते हैं. साथ ही लोअरड V-Cross ज्यादा स्पोर्टी दिखती है.

ऑफ-रोड बम्पर

अपनी V-Cross की स्ट्रीट प्रजेंस बढाने का सबसे आसान तरीका है इसमें एक ऑफ-रोड बम्पर लगाना. इसे इनस्टॉल करने से इसका एप्रोच एंगल भी बेहतर होगा. साथ ही मेटल बम्पर फ्रंट एंड को और भी रफ एंड टफ बनाता है. लेकिन आपमें से ऐसे लोग जो ऐसे बम्पर को लगवाने का सोच रहे हैं इस बात को ज़रूर सुनिश्चित कर लें की स्टॉक यूनिट वाले सेंसर इसमें लगाए जाएं. ऐसे में एयरबैग्स समय पर खिल नहीं पायेंगे.

री-पेंट/रैप

स्ट्रीट प्रजेंस बढाने का एक और आसान तरीका है अपने V-Cross को री-पेंट या रैप कराना. हमें लगता है की रैप ज़्यादा बेहतर रहेगा क्योंकि रैप में आपको बिना ओरिजिनल पेंट से हाथ धोये मनचाहा लुक मिल सकेगा. और आप रैप को कभी भी हटा कर ओरिजिनल पेंट वाला लुक पा सकते हैं, बस इस बात को सुनिश्चित कर लें की रैप का काम अच्छे से किया गया है.

बॉडी किट्स

आप अपने V-Cross को बॉडी किट इनस्टॉल करवा भी स्पोर्टी लुक दे सकते हैं. इस पिक-अप के लिए कई ऐसे बॉडी किट उपलब्ध हैं. अगर आप अपने V-Cross को लोअर करवाना चाहते हैं तो इसे एक स्पोर्टी किट दे सकते हैं. अगर आपको अपने लाइफस्टाइल गाड़ी के लिए और प्लांटेड स्टांस चाहिए तो आप इसमें वाइडबॉडी किट भी लगा सकते हैं.

बेड के लिए कवर

ये लगभग पक्की बात है की V-Cross के अधिकाँश यूजर इसके कार्गो एरिया को बड़े सामान ढोने के लिए नहीं इस्तेमाल करते. लेकिन, लोडिंग बे पर कवर लगा उसे आप छोटी चीज़ों को रखने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. V-Cross के लिए बहुत सारे कूल लुक्स वाले कवर उपलब्ध हैं. इस पिक-अप को और शोभनीय लुक देने के लिए आप इसमें हार्ड कवर भी लगा सकते हैं.

स्नोर्कल

स्नोर्कल लगाने से आपकी V-Cross ऑफ-रोडिंग के लिए और भी काबिल हो सकती है. ये गाड़ी के पानी में उतरने की क्षमता को बेहतर करता है. इसलिए एक छोटी सी नदी की धारा को पार करने से पहले सुनिश्चित कर लें की आपकी V-Cross में एक स्नोर्कल लगा है.

लाइट्स

आप अपनी V-Cross में एक्स्ट्रा लाइट्स लगा कर के भी इसके लुक्स को और बेहतर कर सकते हैं. अँधेरे में ऑफ-रोडिंग के दौरान अतिरिक्त लाइट्स बहुत काम आती हैं. वो रोड के अँधेरे हिस्सों पर भी काम आती हैं. लेकिन आपको इन्हें किसी आपात स्थिति में ही इस्तेमाल करना चाहिए जब विसिबिलिटी काफी खराब हो. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अतिरिक्त लाइट्स यूजर्स को चकाचौंध कर देती हैं. सार्वजनिक सड़कों पर इनके इस्तेमाल के लिए आपके ऊपर जुर्माना भी लगाया जा सकता है.

सोर्स — 12345678 , 10